अन्य आध्यात्मिक शोध

Research

Case Studies

  • पी.आई.पी. तकनीक के प्रयोग से भगवान शिव के व्यावसायिक चित्र तथा साधकों द्वारा निर्मित चित्र का तुलनात्मक अध्ययन

    इस लेख में पी.आई.पी. तकनीक के प्रयोग से भगवान शिव के व्यावसायिक चित्र तथा संत के मार्गदर्शन में साधकों द्वारा निर्मित चित्र का तुलनात्मक अध्ययन किया गया और निष्कर्ष निकला कि साधकों द्वारा निर्मित चित्र में सात्त्विकता अधिक है ।

  • कु. शिल्पा देशमुख द्वारा प्राप्त र्इश्वरीय ज्ञान का एक उदाहरण

    नृत्य कला का एक रूप है, जिसका उपयोग र्इश्वरप्राप्ति के लिए किया जा सकता है । इसे उचित प्रकार से करने से ईश्वरीय तत्त्व ग्रहण होता है ।

  • ज्योतिषशास्त्र कितना सटीक है ?

    आकाश में विद्यमान खगोलीय पिंड भविष्य की रूपरेखा प्रदान कर सकते हैं । ज्योतिष विज्ञान प्रारब्ध एवं सूक्ष्म जगत के उन पक्षों को समझ सकता है जो कि आधुनिक विज्ञान की आकलन क्षमता से परे हैं । ज्योतिषशास्त्र की सटीकता अधिकतम ३० प्रतिशत तक होती है । ज्योतिषशास्त्री की व्याख्या की सटीकता एवं क्षमता केवल साधना द्वारा बढ सकती है ।

  • पेड-पौधों पर संस्कृत के मंत्रों का प्रभाव

    ईश्वर द्वारा दी गई अनुभूतियों से साधकों का उत्साह बढता है । भारत के गोवा स्थित आध्यात्मिक शोध केंद्र एवं आश्रम में एक उच्च स्तरीय संत के मार्गदर्शन में साधकों द्वारा संस्कृत में दत्तमाला मंत्र का पाठ करने से गूलर के पौधों का अपने आप उग आना एक विशेष घटना है । इस घटना को विस्तृत रूप से पढने हेतु पूरा लेख अवश्य देखें ।

  • देवदूतों के प्रकार और पदक्रम

    इस लेख में देवदूतों के संदर्भ में छठवीं ज्ञानेंद्रिय की सहायता से आध्यात्मिक शोध के द्वारा महत्त्वपूर्ण जानकारियां दी गर्इ हैं ।